हरामखोर

Haraamkhor1/24/2017 10:10:55 AMHaraamkhorhttp://efilms.in//FilmImages/haraamkhor.jpg Haraamkhor is a 2017 Indian Hindi film directed by Shlok Sharma. The film is produced by Guneet Monga, Anurag Kashyap, Feroze Alameer and Achin Jain. The film stars Nawazuddin Siddiqui and Shweta Tripathi. An unlikely love triangle unfolds when married professor, Shyam, has an illicit affair with his student, Sandhya, who in turn is trying to be wooed by her classmate Kamal. Set in a small town in Madhya Pradesh, Haraamkhor is a prohibited/twisted love story witnessed through the eyes of two adolescents.1/13/2017 12:00:00 AM
हरामखोर एक भारतीय बॉलीवुड फ़िल्म है, जिसका निर्देशन श्लोक शर्मा ने किया है जबकि फ़िल्म के निर्माता गुनीत मोंगा, अनुराग कश्यप, फ़िरोज़ अलामीर और अचिन जैन है। फ़िल्म में नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और श्वेता त्रिपाठी मुख्य किरदार है।

रिलीज़ दिनांक-13-जनवरी-2017
अभिनेता / अभिनेत्री
निर्देशक
Film Reviews

फिल्म: हरामखोर

डायरेक्टर: श्लोक शर्मा 

स्टारकास्ट: नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी और श्वेता त्रिपाठी

 

फ़िल्म के शुरू होने से पहले ही आपको यह संदेश देती है कि यह फिल्म स्कूल जाने वाली उन बच्चियों और बच्चों के लिए बनी है जो अपने शिक्षकों या पेरेंट्स के द्वारा प्रताड़ित होते हैं। यह फिल्म एक बेहद गंभीर और सच्चे विषय पर बनी है जिसे देखकर शायद आप थोड़ी घृणा महसूस करेंगे और यही फिल्म की ताकत भी है।निर्देशक श्लोक शर्मा ने इस फ़िल्म में एक ऐसा विषय उठाया है जो भारत और ख़ासकर उत्तर भारत में काफ़ी व्यापक है।

 

 

कहानी

फिल्म मध्य प्रदेश के छोटे से गांव की कहानी है जहां टीचर श्याम टेकचंद (नवाजुद्दीन सिद्दीकी) बच्चों को गणित पढ़ाता है। उसकी क्लास में 15 साल की लड़की संध्या (श्वेता त्रिपाठी) भी पढ़ती है। श्याम टेकचंद और नाबालिग संध्या एक दूसरे से प्यार करने लगते हैं। उसी क्लास में संध्या का एक क्लासमेट भी है जो उससे बहुत प्यार करता है। श्याम टेकचंद अपनी नाबालिग़ छात्रा संध्या के साथ नाजायज़ संबंध बनाते है और फिर उसका गर्भपात करवाने के लिए भी उसे लेकर जाते हैं। धीरे धीरे इस लव स्टोरी में कई मोड़ आते हैं। संध्या (श्वेता त्रिपाठी) का क्लासमेट कमल अपने दोस्त मिंटू की मदद लेता है ताकि उसे संध्या का अटेंशन मिल पाए।

 

 

एक्टिंग

नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने एक बार फिर दर्शकों को दिखा दिया है कि वो कितने अच्छे एक्टर हैं और दर्शक उनसे कितना प्यार करते हैं। हम कह सकते हैं कि नवाज फिल्म की जान हैं और उनके एक्सप्रेशन और डायलोग डिलीवरी भी इंप्रेसिव है।

 

श्वेता त्रिपाठी को आप इससे पहले मसान फिल्म में देख चुके हैं और उन्होंने अच्छी एक्टिंग की थी। श्वेता त्रिपाठी ने एक बार फिर इस फिल्म में दिखा दिया है कि वो कितनी अच्छी एक्ट्रेस हैं।

 

 

डायरेक्शन

श्लोक शर्मा ने यह पहली फिल्म डायरेक्ट की है और उन्होंने अपनी पहली फिल्म में दिखा दिया है कि वो कितने प्रॉमिसिंग डायरेक्टर हैं। इस फिल्म में श्लोक शर्मा बताया है कि उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड में ट्यूशन पढ़ाने वाले टीचरों द्वारा घर की लड़की को भगा ले जाने या उससे शारीरिक संबंध बना लेने के कई केस पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज हैं और ऐसे ही अनगिनत केसों पर यह कहानी आधारित है। फिल्म में रोमांस और लस्ट के बीच के हल्के से अंतर को बखूबी दिखाया गया है। फिल्म भले डार्क विषय पर हो और नाम भी काफी अलग है लेकिन कई जगहों पर फिल्म में आप हंस पड़ेंगे।

 

 

फिल्म देखने जाएँ या नहीं

इस फिल्म में श्लोक शर्मा बताया है कि उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड में ट्यूशन पढ़ाने वाले टीचरों द्वारा घर की लड़की को भगा ले जाने या उससे शारीरिक संबंध बना लेने के कई केस पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज हैं और ऐसे ही अनगिनत केसों पर यह कहानी आधारित है। यह फिल्म आप एक बार देखने जा सकते हो क्यूंकि फिल्म की कहानी अच्छी है। फिल्म देखने जाने से पहले आप सबसे ऊपर ट्रेलर देख सकते हैं-