Baby Ko Bass Pasand Hai/SongImages/baby-ko-bass-pasand-hai.jpghttp://efilms.in//SongImages/baby-ko-bass-pasand-hai.jpg बेबी को बेस पसंद है गीत के बोल सुल्तान (2016) फिल्म से लिए गए हैं, इस फिल्म में सलमान ख़ान और अनुष्का शर्मा ने किरदार निभाया है। यह गीत विशाल ददलानी, शाल्मली खोलगडे, इशिता और बादशाह ने गाया है, संगीत विशाल ददलानी और शेखर रवजियानी ने दिया है और इसके बोल इरशाद कामिल ने लिखे हैं।9/8/2016 6:36:03 PM



बेबी को बेस पसंद है गीत के बोल सुल्तान (2016) फिल्म से लिए गए हैं, इस फिल्म में सलमान ख़ान और अनुष्का शर्मा ने किरदार निभाया है। यह गीत विशाल ददलानी, शाल्मली खोलगडे, इशिता और बादशाह ने गाया है, संगीत विशाल ददलानी और शेखर रवजियानी ने दिया है और इसके बोल इरशाद कामिल ने लिखे हैं।


बेबी को बेस पसंद है लिरिक्स

रे लक धक् लक धक् जाटनी के
हाव भाव में तेजी..

उसकी अंखियाँ इंग्लिश बोले
मेरी अनपढ़ अंखियाँ रे..
बैठे बैठे ला गयी देखो
दिल को मेरे थागियाँ रे
हाय मेरे पास होके
फिर वो डीजे से जाके बोली
भईया तू decide करियो
कि अब बीट चले या गोली
क्यूंकि?
बेबी को बेस पसंद है
बेबी को बेस पसंद है

जब वो नाचे
मुझको उसका फेस पसंद है
बेबी को बेस पसंद है

हाय मेरे भोले पंछी
पढ़ न उल्टी पत्तियां रे
भूल न मेरे साथ खड़ी हैं
मेरी सोलह सखियाँ रे
तेरे जैसे बड़े चौधरी देखे हैं मरजाने
सोंग सुना के इंग्लिश के जो डाले देसी दाने
क्यूंकि?
बेबी को बेस पसंद है

हाय..
बेबी को बेस पसंद है

Now छोरी wanting dance
But छोरा want romance
So छोरा bole DJ se
Je ee no taking chance

छोरी छोरी हिट से फायर से
सब लडको की डिजायर से
यो चलता फिरता फैशन शो
बजली की नंगी वायर से
मैं पागल हो गया तेरे पीछे
दिल मेरा तेरी हील के नीचे
टक टक बजती जे डांस फ्लोर पे
आँखें नीचे.. आँखें नीचे..

स्पीकर का वॉल्यूम उसको तेज पसंद है
बेबी को बेस पसंद है
बेबी को बेस पसंद है

रे लक धक् लक धक् जाटनी के
हाव भाव में तेजी..
बेबी को बेस पसंद है
रे लक धक् लक धक् जाटनी के
हाव भाव में तेजी..
उह! बेबी को बेस पसंद है
बेबी को बेस पसंद है बेबी को बेस पसंद है गीत के बोल सुल्तान (2016) फिल्म से लिए गए हैं, इस फिल्म में सलमान ख़ान और अनुष्का शर्मा ने किरदार निभाया है। यह गीत विशाल ददलानी, शाल्मली खोलगडे, इशिता और बादशाह ने गाया है, संगीत विशाल ददलानी और शेखर रवजियानी ने दिया है और इसके बोल इरशाद कामिल ने लिखे हैं।